Tuesday, May 8, 2018

कर्नाटक: कमल खिलेगा या पंजा दिखेगा ?

कर्नाटक का चुनावी रण तेज हो गया है। इस चुनाव का दिलचस्प पहलू ये है कि चुनाव प्रचार के दौरान  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी एक दूसरे पर जमकर हमला बोल रहे हैं। पीएम मोदी ने जहां कांग्रेस पर दलितों को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया तो वहीं राहुल ने भाजपा पर दलितों को निचले पायदान पर रखने का आरोप लगाया। मोदी ने कांग्रेस को वोटबैंंक की राजनीति करने को लेकर घेरा। उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया सरकार टीपू सुल्तान की जयंती मना रही है लेकिन उसने चित्रदुर्ग राजवंश की महिला ओनेक ओबव्वा की वीरता को भुला दिया जो कि एक दलित थी। मोदी ने कांग्रेस पर अंबेदकर का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ये वक्त कांग्रेस की विदाई का है। अब कांग्रेस की विदाई होती है या नहीं, ये तो आने वाला वक्त बताएगा, लेकिन मोदी जी आप क्या कर रहे हो? यदि कांग्रेस मुसलमानों को रिझाने के लिए टीपू सुल्तान की जयंती मना रही है तो आप भी तो दलित वोटबैंक पक्का करने के लिए अंबेडकर का सहारा ले रहे हो। वैसे यहां आपका मुकाबला कड़ा है, क्योंकि राज्य में जेडीएस भी अपनी किस्मत आजमा रही है। 225 विधानसभा सीटों वाले इस चुनाव में हिन्दुत्व के मुद्दे को लेकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों किला फतह करने में लगी हैं। बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव है। 15 मई को मतगणना होगी। जीत के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने अपना पूरा दमखम लगा दिया है। अब देखना होगा कि कौन सी पार्टी कर्नाटक की जनता का दिल जीतती है?

No comments:

Post a Comment