Saturday, May 12, 2018

'हिन्दू' पीएम का नेपाल दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 और 12 मई यानि दो दिन नेपाल में बिताए। इस दौरान उन्होंने जानकी मंदिर में
                                  साभार:PIB
पूजा-अर्चना की। मोदी ने नेपाल के साथ भारत के संबंध को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि नेपाल के बिना भारत के राम और  हिन्दुस्तान की आस्था अधूरी है। ये पीएम मोदी की तीसरी यात्रा है। जिसमें वो एयरपोर्ट से सीधे जनकपुर स्थित रामजानकी मंदिर पहुंचे, जहां नेपाल के प्रधानमंत्री के पी ओली ने उनका स्वागत किया। मोदी ने मुक्तिनाथ मंदिर और पशुपतिनाथ मंदिर में दर्शन किए। पूजा-अर्चना के बाद मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री ने संयुक्त रूप से जनकपुर से अयोध्या के लिए सीधी बस सेवा को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर मोदी ने नेपाल के विकास के लिए 100 करोड़ रुपए देने की घोषणा की। मोदी ने 5 T की चर्चा करते हुए कहा कि नेपाल के विकास के लिए ट्रेडिशन, ट्रेड, टूरिज्म, ट्रांसपोर्ट और टेक्निक का विकास जरूरी है। पीएम ने दोनों देशों के किसानों की दशा सुधारने पर जोर दिया। लेकिन ऐसा देखा गया है कि प्रधानमंत्री जब-जब नेपाल गए हैं, उन्होंने मंदिर-मंदिर घूमने का मौका नहीं छोड़ा है। इस बार भी उनकी मंदिर डिप्लोमेसी देखने को मिली। रामजानकी मंदिर से लेकर पशुपतिनाथ मंदिर तक मोदी ने पूजा अर्चना कर साफ संकेत दिया है कि नेपाल और भारत के संबंध को हिन्दुत्व ही मजबूती दे सकता है। इस मौके पर पीएम मोदी ने नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी से मुलाकात की और दोनों देशों के संबंधों को और मजबूत करने पर जोर दिया। मोदी ने मंदिर डिप्लोमेसी के जरिए जहां नेपाल की जनता का दिल जीतने की कोशिश की, वहीं देखने वाली बात ये होगी कि इस मंदिर डिप्लोमेसी का भारत में 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा को कितना फायदा मिलता है?

No comments:

Post a Comment