Sunday, February 25, 2018

आह! 'चांदनी' ने दे दिया 'सदमा'

आखिरकार दुबई में डूब गया बॉलीवुड का सबसे खूबसूरत सितारा। फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी ने दिल का दौरा पड़ने पर अपने चाहने वालों को सदमे में छोड़ दिया। रुपहले पर्दे पर कभी हार नहीं मानने वाली रूप की रानुी को 'चालबाज' मौत ने हरा दिया। इस हार के दर्द से पूरा हिन्दुस्तान या यूं कहें दुनिया का हर वो हिस्सा जहां श्रीदेवी के फैंस रहते हैं, सबको गमगीन कर दिया। महज 54 साल की उम्र में मौत, इस पर यकीन करना मुश्किल है, लेकिन यही हकीकत है। अपने भतीजे मोहित मारवाह की शादी में गई श्रीदेवी के जीवन का सिलसिला वहीं खत्म हो गया। तमिल फिल्म से अपना करियर शुरू करने वाली श्रीदेवी ने न सिर्फ दक्षिण की फिल्मों में अपना जलवा बिखेरा, बल्कि बॉलीवुड में भी अपनी धाक जमाई। श्रीदेवी बॉलीवुड की पहली महिला सुपरस्टार हैं। बॉलीवुड में श्रीदेवी ने 1975 में आई जूली में चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर कदम रखा। उसके बाद बॉलीवुड में बतौर हिरोइन 1979 में उन्होंने 'सोलवां श्रृंगार' किया। लेकिन उनको सफलता 1983 में आई फिल्म हिम्मतवाला से मिली। इसके बाद बॉलीवुड में श्रीदेवी की सफलता का सफर शुरू हो गया। अपनी खूबसूरती और अभिनय की बदौलत श्रीदेवी सबके दिलों पर राज करने लगीं। लोग उनके दीवाने हो गए। श्रीदेवी ने कई हिट फिल्मों में काम किया। मवाली, तोहफा, नया कदम, नगीना, मिस्टर इंडिया, लम्हे जैसी कई यादगार फिल्मों में अपने अभिनय का जादू बिखेरा। मिस्टर इंडिया के बाद लोग उन्हें हवाई हवाई के नाम से पुकारने लगे। गौर करने वाली बात ये है कि श्रीदेवी ने जिस तरह से इंगलिश विंगलिश के जरिए बॉलीवुड में अपनी दूसरी पारी खेली उसी तरह उन्होंने अपनी निजी जीवन में भी दो पारियां खेली हैं। पहली पारी में उन्होंने फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती से शादी की लेकिन ये रिश्ता टूट गया। इसके बाद उन्होंने फिल्म प्रोड्यूसर बोनी कपूर से शादी की, लेकिन इस बार श्रीदेवी ने खुद बोनी से रिश्ता हमेशा हमेशा के लिए तोड़ दिया और उन्हें यादों में जीने को छोड़ दिया। बता दें कि बोनी कपूर की पहली पत्नी मोना कपूर की कैंसर से िमौत हो गई है। वो बोनी और श्रीदेवी के रिश्ते को लेकर काफी परेशान रहती थी। ये बोनी कपूर की बदनसीबी ही कही जाएगी कि उनकी पत्नियां बीमार होकर उनका साथ छोड़ जाती हैं। लेकिन श्रीदेवी ने बोनी कपूर को अकेला नहीं छोड़ा है। उन्होंने जाह्नवी और खुशी नाम की दो बेटियों को बोनी कपूर के पास बतौर 'तोहफा' छोड़ दिया है। वहीं श्रीदेवी ने अपने चाहने वालों के लिए वो 'लम्हे' छोड़ दिए हैं जिसके जरिए वो हमेशा याद की जाएंगी।  

No comments:

Post a Comment