Sunday, January 14, 2018

50% की छूट का भरोसा !

Flat 50% की छूट। जी हां आधी कीमत पर आपको इस स्टोर में कोई भी सामान मिल जाएगा। ये रिलायंस का
ट्रेंड्स शोरूम है। जहां पचास प्रतिशत की छूट देने का बोर्ड लगाया गया है। रिलायंस अपने आपमें एक ब्रांड है। रिलायंस यानि भरोसा। धीरूभाई अंबानी ने जब रिलायंस की नींव रखी होगी तो उन्होंने भी इस भरोसे के साथ कंपनी की शुरूआत की होगी कि ये कंपनी आगे चलकर देश की बड़ी कंपनी बन जाएगी। कंपनी की क्या स्थिति है वो आपके सामने हैं। धीरूभाई अंबानी के दोनों बेटे मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी ने रिलायंस को और ऊंचाई देने की कोशिश की। लेकिन इस कंपनी के साथ एक सच ये भी है कि इसके शोरूम में मार्केटिंग का खेल खूब खेला जाता है। यानि गंजे को कंघी बेचने में इस कंपनी के कर्मचारी काफी माहिर हैं। अब इस शोरूम को ही देख लीजिए। 50% की छूट का बोर्ड लगाकर ग्राहकों को भरमाया जा रहा है कि वाकई रिलायंस में सस्ते दामों पर सामान मिल रहा है। लेकिन जरा सोचिए जो लोग गंजे व्यक्ति को कंघी बेच सकते हैं, क्या वो आपको पुराना प्रोडक्ट नहीं बेच सकते हैं? ये पचास प्रतिशत की सीधी छूट का मतलब निकाला जाए तो यही होगा कि या तो कंपनी का प्रोडक्ट बिक नहीं रहा है तो पचास प्रतिशत की छूट देकर बेचने की कोशिश की जा रही है या फिर प्रोडक्ट के मूल दाम में 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर प्रोडक्ट का दाम बताया जा रहा है। यानि इस बढ़े हुए दाम में 50 प्रतिशत की छूट दे दी जाए तो कंपनी को फायदा होगा। छूट के बाद भी उसका प्रोडक्ट अपने मूल प्राइस में बिक जाएगा। यहां ग्राहक समझेगा कि उससे सस्ते में ब्रांडेड सामान मिल गया। यहां गौर करने वाली बात है कि दीपावली और क्रिसमस के दौरान कंपनियां टारगेट लेकर चलती हैं कि उनको बाजार में इतना सामान सेल करना है। जो सामान इन त्योहारों के दौरान नहीं बिकते, उनको बेचने के लिए कूपन रीडीम और छूट की तरकीब अपनाई जाती है। 

No comments:

Post a Comment