Sunday, July 23, 2017

बरसात में सड़क की खुदाई कितनी जायज ?

अक्सर बरसात के दिनों में ही ये काम क्यों होता है? ये शासन या प्रशासन की लापरवाही है कि अच्छी भली सड़क का सत्यानाश कर दिया। सड़क को खोद कर क्या किया जा रहा है? इसका जवाब कोई जिम्मेदार अधिकारी या मंत्री दे सकता है। शायद नहीं, बारिश के दिनों में सड़कें पानी में बह जाती हैं। लेकिन इस सड़क की हिमाकत देखिए, पानी में बहने का नाम ही नहीं ले रही। लो अब भोपाल नगर निगम वालों ने इस सड़क का पोस्टमार्टम ही कर दिया। सरकार और नगर निगम के पास अच्छा खासा फंड है, उसका कहीं न कहीं दुरुपयोग तो करना चाहिए ना, माफ कीजिएगा फंड का सदुपयोग हो जाएगा। चूंकि सड़क  VIP इलाके की है इसलिए ठेकेदार ने पूरी ईमानदारी से सड़क बनाई। लिहाजा बारिश भी इस सड़क का कुछ बिगाड़ नहीं पाई। मालवीय नगर स्थित अब इस सड़क के पैचवर्क का काम किया जाएगा ताकि इस रास्ते से गुजरने वाले मंत्री और विधायकों को कोई तकलीफ न हो। भरोसा रखिए काम भले असमय हो रहा है। लेकिन कम से कम हो तो रहा है। यहां तो पूरी सड़क पानी में डूब जाती है। पानी में डूबने का मतलब फंड तैयार। जनता की गाढ़ी कमाई सड़क पर खर्च हो रही है। इससे अच्छी बात क्या हो सकती है, लेकिन ये तस्वीर देख कर अच्छी बात भी बुरी बात में बदल जाती है।

No comments:

Post a Comment